Home स्वाद इंडिया

मिट्टी के बर्तनों में खाना बनाने से होते हैं कई शारीरिक लाभ, जानें पूरी खबर

SHARE
There are many physical benefits of making food in pottery

Idein News: भारतीय इतिहास की ओर दृष्टी डाली जाए तो मालूम होता है कि पहले पहल खाना बनाने में मिट्टी के बर्तनों का ही इस्तेमाल किया जाता था। लेकिन आधुनिक युग में लोग खाना बनाने के लिए मिट्टी के बर्तनों की अपेक्षा स्टील, तांबे और लोहे आदि के बर्तनों का स्तेमाल करते हैं। हालांकि अब लोग धीरे-धीरे फिरसे मिट्टी के बर्तनों के स्तेमाल की ओर वापस लौट रहे हैं जो कि अच्छी बात है।

इसे भी पढ़े- बदलते भारत का बदलता स्वाद, भारतीयों पर छाया फ्यूज़न फूड का खुमार

बता दें कि आज के युग में जिन बर्तनों का इस्तेमाल खाना बनाने में किया जाता है। उनकी अपेक्षा मिट्टी के बर्तनों में खाना बनाने से कई प्रकार के शारीरिक लाभ होते हैं। मालूम हो कि मिट्टी के बर्तनों में खाना बनाने से अपच और गैस की समस्या दूर होती है। मिट्टी के बर्तनों में खाना बनाने से पौष्टिकता के साथ भोजन का स्वाद बढ़ता है, कब्ज की समस्या से निजात मिलती है।

इतना ही नहीं लोहे, लांबे या स्टील के बर्तनों की अपेक्षा मिट्टी के बर्तनों में भोजन बनाने से खाने में मौजूद पोषक तत्व भी नष्ट नहीं होते और भोजन का पीएच वैल्यू मेंटेन रहता है। जिससे कई प्रकार का शारीरिक लाभ होता है और हमारा शरीर खतरनाक बीमारियों के संपर्क में नहीं आता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here